उस मुस्कुराहट के पीछे

smile-mouth-teeth-laugh-65665

जुदाई का ये आलम हमसे,
न जाने क्या क्या करवाएगा,
जब भी याद आएगी उनकी,
न जाने कितने आंसू रुलाएगा,

साथ बिताया हुआ हर लम्हा,
लबों पे मुस्कुराहट तो ले आएगा,
मगर उस मुस्कुराहट के पीछे,
न जाने कितने गम छुपाएगा।

Advertisements

फसा देगी ये आँखे

eyes-1220402_960_720

ये आँखे, फसा देगी ये आँखे एक दिन,
जुबाँ पलट जाए, पर ये अपनी जिद नहीं छोड़ती,
नियत बता देती है, सच बया कर देती है,
और अनजाने में इकरार भी कर देती है।

हमारी तकरार पे आँखे मासूमियत से बोली,
आदत है मुझे ताने सुनने की,
क्या करे, यहाँ लोगो के दिल बहक जाते है ,
और कसूर नजर को दिया जाता है।